केंद्र सरकार दोवारा पास किए गए खेती कानूनों के विरोध में पंजाब सरकार की तरफ से शुरू की गई रोष रैलियों के तहत गुरदासपुर में की गई रोष रैली में कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ , कैबिनेट मंत्री अरुणा चौधरी, गुरदासपुर से विधायक बृन्दरमीत सिंह पाहड़ा,श्री हरगोबिंदपुर से विधायक बलविंदर सिंह लाडी पहुचे। इस दौरान सभी नेताओं ने केंद्र के खिलाफ किसान कानून को लेकर जम कर भड़ास निकाली और कहा कि मोदी सरकार तानाशाही बन चुकी है और किसानों को खत्म करना चाहती हैपंजाब कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ ने पंजाब में बिजली संकट को लेकर कहा के पंजाब में अभी तो और कई संकट आने वाले हैं। सारे पंजाब के अंदर फिकर और गुस्सा है,की यह क्या हो रहा है,हमारी जड़े उखाड़ी जा रही है केंद्र सरकार।मोदी साहिब अम्बानियों को फायदा पहुंचा रहे है,किसान मुक्त किसानी करने की बात कर रहे हैं। 65 हजार टन की सीसीएल लिमिट किसके पास है सिवाए अम्बानियों के। किसान के पास तो मात्र 50 हज़ार की लिमिट होती है।इस बात की चिंता किसानों को खाई जा रही है। 11 सो करोड़ रुपए की बात बीजेपी लीडर कर रहे हैं, में बीजेपी के लीडरों से कहना चाहता हूं जांच ही करनी है तो 31 हजार करोड़ की करो जो सुखबीर बादल जब डिप्टी cm थे किया था। पराली जलाने वाले कानून पर कहा के केंद्र की आंख सिर्फ पंजाब बरबाद करने पर है। पहले पंजाब का gst फंड बंद कर दिया और अब बॉर्डर रूरल डेवलपमेंट फंड बंद कर दिया, अगर आंख ही रखनी है तो चीन पर रखें। मोदी पंजाब की नीच दिखाना चाहते हैं। बठिंडा में सरकारी रराशं खराब मिलने के मामले मे कहा के इस तसरह की घटना की जांच होगी। अकालियों की लोगों ने ही यह किया है। जाखड़ ने कहा के बीजीपी पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा को कहा था के बेथ कर कृषि कानून पर बात करें और अपना अपना पक्ष रखें। कृषि मंत्री को पंजाब के मुख्य मंत्री से इनविटेशन भिजवा दूंगा इस मामले पर चर्चा के लिए।

By Desk

error: Content is protected !!