लगभग 51 वर्ष पहले 21 जुलाई 1969 को नील आर्मस्ट्रांग ने जब चंद्रमा पर कदम रखा था, तब उन्होंने कहा था कि एक आदमी का यह छोटा सा कदम मानवता के लिए एक विराट छलांग है। अपोलो मिशन के तहत अमेरिका ने वर्ष 1969 से 1972 के बीच चांद की ओर कुल नौ अंतरिक्ष यान भेजे और छह बार इंसान को चांद पर उतारा। अपोलो मिशन खत्म होने के तीन दशकों के बाद तक चंद्र अभियानों के प्रति एक बेरुखी सी दिखाई दी थी। मगर चांद की चाहत दोबारा बढ़ रही है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपने आर्टेमिस मून मिशन की रूपरेखा प्रकाशित की है, जिसके अंतर्गत साल 2024 तक इंसान (एक स्त्री और एक पुरुष) को चंद्रमा पर भेजने की योजना है। बीते 14 अक्टूबर को आठ देशों ने आर्टेमिस मिशन को लेकर एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय समझौता किया है। इस समझौते के मुताबिक सभी आठ देश मिलकर जिम्मेदारी के साथ चंद्रमा के अन्वेषण में सहयोग करेंगे।

error: Content is protected !!