पनबस कंट्रैक्ट वर्कज यूनियन ने ठेका मुलाजिम संघर्ष मोर्चा के बैनर तले मुलाजिमों को रेगुलर करने व कृषि कानून विरोध में पंजाब रोडवेड डिपो के गेट के समक्ष प्रधानमंत्री नरिन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह का पुतला फूंका। इस दौरान प्रदेश प्रधान तरजिंदर सिंह व राज कुमार ने बताया कि पंजाब सरकार की ओर से आए दिन युवाओं को नौकरियां देने के ब्यान दिए जा रहे हैं जबकि पहले से नौकरी कर रहे कर्मचारियों को परेशान किया जा रहा है। सरकारी विभागों को खत्म करने के लिए उनका निजीकरण किया जा रहा है और वैलफेयर एक्ट 2016 तोड कर नया वेलफेयर एक्ट 2020 बनाया जा रहा है। जिसके तहत आऊटसोर्सिंग व ठेका प्रणाली आदि कैटागिरी को बाहर किया जा रहा है। जिसका ठेका मुलाजिम संघर्ष मोर्चा पूरा विरोध करता है। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से ठेका मुलाजिमों को पक्का करने की बजाए नए कानून बनाए जा रहे है जबकि उनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि वैलफेयर एक्ट-2016 के तहत उन्हें रेगुलर किया जाए, एक्ट से बाहर रखी गई कैटागिरी को आऊट सोर्स व एक्ट में शामिल किया जाए,छटनी किए गए मुलाजिमों को तुरंत बहाल किया जाए, समूह विभागों का निजीकरण व निगमीकरण करने का फैसला रद्द किया जाए। उन्होंने कहा कि यूनियन की ओर से 8 नवंबर को देश भगत यादगिरी हाल जालंधर में राज्य स्तरीय कनवेंशन की जाएगी। जिसमें कर्मचारियों की मांगों को लेकर किए जाने वाले संघर्ष की रूप रेखा तैयार की जाएगी। इस मौके पर कमल ज्योति, राज कुमार, सुखविंदर कुमार, अमित कुमार, मीना कुमारी, रोशन लाल, सुखजिंदर सिंह, साहिल कुमार, कीरतरथ, संदीप कुमार आदि मौजद थे।

By desk1

error: Content is protected !!