डेंगू और वायरल बुखार तेजी से पैर पसारने लगा है। पिम्स में सात दिन के बच्चे को डेंगू होने का मामला सामने आया। पिम्स के बच्चों के माहिर डा. ने बताया कि पिछले सप्ताह उनके पास एक दंपती आया। उनके सात दिन के बच्चे को बुखार और शरीर पर लाल निशान थे। बच्चे का जन्म निजी अस्पताल में हुआ था। बच्चे के कई टेस्ट करवाए परंतु परिणाम नहीं मिला। इसके बाद डेंगू होने का शक हुआ हुआ और जांच पड़ताल शुरू की। उसके प्लेटलेट्स 55 हजार थे। सिरोलाजी टेस्ट भी पाजिटिव मिला। दूसरे दिन दोबारा खून की जांच में प्लेटलेट्स 23 हजार रह गए। बच्चे की मां में डेंगू के कोई लक्षण नहीं थे। डा. जतिंदर ने बताया कि मां से बीमारी बच्चों में फैलती है। उसे डेंगू का वर्टिकल ट्रांसमिशन कहते हैं। बच्चे को मच्छर ने काटा हो सकता है। जिसकी वजह बच्चे में लक्षण आए। ऐसे मामले बहुत कम होते हैं। बच्चे को सात दिन पिम्स में दाखिल रखने के बाद बुधवार को छुट्टी देकर घर भेज दिया गया।

By desk2

error: Content is protected !!