धार ब्लॉक के दुनेरा में वन विभाग के कार्यालय में पंजाब खेतीबाड़ी यूनिवर्सिटी लुधियाना के विशेषज्ञ की ओर से सेल्फ हेल्प ग्रुपों में काम कर रही महिलाओं को पहाड़ी क्षेत्र में लगने वाली जड़ी बूटियों के बारे में एक जागरूकता कैंप लगाया गया । विशेषज्ञों ने बताया कि ज़िला पठानकोट में नया खेतीबाड़ी कार्यालय खोला गया है उन्होने बताया कि इस क्षेत्र में बेरोजगारी युवकों और महिलाओं से मधुमखी पालन ,बकरी पालन,डेयरी ,मुर्गी पालन और अन्य तरह के आचार के लिएकुछ शुल्क लेकर ट्रैनिंग दी जाती है। जबकि महिलाओं के लिए सभी ट्रैनिंग मुफ़्त दी जाती है । बेरोजगार युवक ट्रैनिंग लेकर अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं उनके द्वारा दिये गए सर्टिफिकेट के जरिये सबसिडी भी हासिल कर सकते हैं ।उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में आंवला लगाकर अच्छी आमदन हो सकती है । आंवला एक आयुर्वेदिक औषधि है इसमें विटामिन सी बहुत ही ज़्यादा मात्रा में पाया जाता है जोकि कोरोना जैसी बीमारी को रोक सकता है । इस की तीन किस्म होती है बलवंत ,नीलमऔर कंचन । इस को जंगली जानवर नुकसान नही पहुंचाते । उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में हल्दी ,ग्लो, मशरूम, एलोवेरा आदि की खेती करके लाभ प्राप्त किया जा सकता है । इस मौके पर रेंज अधिकारी जंग बहादुर ,ब्लॉक अधिकारी पवन कुमार ,ब्लॉक अधिकारी अजय कुमार ,धीरज शर्मा ,जोगिन्दर संधू ,नितिन कुमार ,रफ़ल ,अमर नाथ ,मैडम सुनीता और समूह क्षेत्र के सेल्फ हेल्प ग्रुपों के सदस्य मौजूद थे ।

error: Content is protected !!