भारत समेत दुनियाभर के तमाम देश पिछले 10 महीने से जानलेवा कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) जूझ रहे हैं. भारत में रोजाना कोरोना के सबसे ज्यादा केस आ रहे हैं, मगर हर रोज लोग ठीक भी हो रहे हैं. भारत में कोरोना की रिकवरी रेट को देखकर राहत की सांस ली जा सकती है. हालांकि, सरकार ने कहा है कि अभी खतरा न तो टला है और न ही वैक्सीन आई है. इसलिए लोगों को सावधानी बरतनी होगी. इस बीच आयुष मंत्रालय (Aayush Ministry) ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए नई गाइडलाइंस जारी की है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और आयुष मंत्री श्रीपद यशो नाईक ने मंगलवार को नई गाइडलाइंस जारी कीं. इसमें बताया गया है कि इलाज से बेहतर रोकथाम होती है. इसके लिए हमें अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने की जरूरत है.

आइए जानते हैं क्या है आयुष मंत्रालय की नई गाइडलाइंस:-

आयुष मंत्रालय ने कहा कि दिनभर गर्म पानी पीएं. गर्म ताजा बना खाना ही खाएं.
कम से कम 30 मिनट तक योग का अभ्यास, प्राणायाम और ध्यान लगाना बहुत महत्वपूर्ण है.
भोजन पकाने के समय इसमें हल्दी, जीरा और धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है.
इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए मंत्रालय ने सुबह 1 चम्मच च्यवनप्राश खाने की सलाह दी है.
जो डायबिटीज के रोगी हैं, उन्हें बिना शुगर वाला च्यवनप्राश खाने की सलाह दी गई है.
दिन में 1 या 2 बार हर्बल चाय पीएं. तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी अदरक और किशमिश का काढ़ा ले सकते हैं.
150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी डालकर पीने की सलाह दी गई है.
सुबह और शाम अपने दोनों नथूनों में तिल या नारियल का तेल या घी लगाएं.

COVID-19 Case in India: 24 घंटे में मिले कोरोना के 61,267 नए केस, 884 मरीज़ों की हुई मौत

मंत्रालय के मुताबिक, देशभर के जाने-माने डॉक्टरों ने इन उपायों के बारे में जानकारी दी है, जो व्यक्ति की इम्युनिटी को बढ़ाने में बेहद कारगर हैं. सूखी खांसी के लिए दिन में 1 बार पुदीने की ताजा पत्ती या अजवाइन के साथ भाप लेने के बारे में भी बताया गया है. वहीं, खांसी या गले में खराश होने पर दिन में 2-3 बार प्राकृतिक शक्कर या शहद के साथ लौंग का पाउडर लेने के लिए सलाह दी है.

मंत्रालय का कहना है कि ये उपाय आमतौर पर सामान्य सूखी खांसी या गले में सूजन इन उपायों से कम होती है. अगर लक्षण फिर भी बने रहते हैं और ठीक नहीं होते तो डॉक्टर को अवश्य दिखाएं.

कोरोना से ठीक हुए मरीज रोज खाएं च्यवनप्राश
कोरोना के बिना लक्षण वाले मरीज या फिर हल्के लक्षण वाले मरीज अश्वगंधा और गिलोय का नियमित सेवन करेंगे तो फायदा होगा. कोरोना से ठीक हो गए मरीज भी नियमित रूप से च्वनप्राश खाएं. ये तमाम आयुर्वेदिक उपाय ना केवल आपको स्वस्थ रखेंगे, बल्कि बीमारी से लड़ने में भी मदद करेंगे.

By Desk

error: Content is protected !!