सांझा किसान मोर्चा पंजाब के साथ अलग-अलग किसान जत्थेबंदियों की ओर से कामरेड शिव कुमार के नेतृत्व में आज कृषि कानून को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अशवनी शर्मा की कोठी का घेराव किया गया। इससे पूर्व किसान सभा के सदस्यों ने एक रैली निकालकर कृषि बिल को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की इसके पश्चात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा की कोठी के पास पहुंचे। उक्त किसानों को पुलिस ने आगे बढ़ने से रोका। अशवनी शर्मा की कोठी से पहले ही पुलिस की ओर से कई जगह पर बैरिकेड लगाकर रास्ते बंद किए हुए थे। पहले बैरिकेड को पार करने के बाद जब दूसरे बैरिकेड से पुलिस ने किसानों को आगे जाने नहीं दिया तो वह सड़क पर ही दरियां बैठा कर धरने पर बैठ गए। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अशवनी शर्मा एवं केंद्र के मोदी सरकार के खिलाफ नारे लगाए। इस दौरान कामरेड शिव कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार जिस कानून को लागू किया है, वह कृषि बिल किसानों के बिल्कुल भी हित में नहीं है,इससे आने वाले भविष्य में किसानों को काफी नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि मात्र एक ही पार्टी भाजपा इस बिल को लागू करवाने के लिए इसे सही करार दे रही है लेकिन वह अपने मंसूबे में कभी भी कामयाब नहीं हो पाएंगे क्योंकि पूरे देश में किसान और सभी लोग इस बिल का पुरजोर विरोध कर रहे हैं। जिसके चलते आज पंजाब में किसान मोर्चा की ओर से भी इसके खिलाफ रोष रैलियां एवं धरने दिए जा रहे हैं। जिसके चलते आज पठानकोट में भी किसान जत्थे बंदियों की ओर से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा की कोठी का घेराव किया गया है। उन्होंने कहा कि किसान जत्थेबंदियों की ओर से सभी को जागरूक किया जा रहा है कि उक्त कृषि बिल किसानों के हित में नहीं है और भाजपा इस संबंधी सभी को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि जब तक इस बिल को लागू करने का फैसला वापस नहीं लिया जाता, तब तक किसान जत्थेबंदियां अपने इस धरने को इसी प्रकार जारी रखेंगी। इस दौरान अलग-अलग किसान जत्थेबंदियों के वक्ताओं ने अपने संबोधन में कृषि बिल का विरोध किया।

error: Content is protected !!