युवा भीम सेना पठानकोट द्वारा प्रधान सागर गिल के हस्ताक्षर युक्त एक पत्र माननीय राष्ट्रपति भारत सरकार के नाम जारी किया गया। जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश के कस्बा हाथरस में कथित गैंगरेप तथा मर्डर के बारे में लिखा गया कि दलित लडक़ी का हाथरस में 14 तारीख को गैंग रेप हुआ उसकी एफ आई आर 22 तारीख को लिखी गई उसे अच्छा इलाज नहीं दिया गया जिससे उसको बचाया नहीं जा सका। जिसके चलते उसने 29 सितम्बर को अंतिम सांस ली। जिसके बाद उसके शरीर का उनके परिजनों की अनुपस्थिति में आधी रात को अंतिम संस्कार किया गया। पत्र में लिखा गया है कि उत्तर प्रदेश राज्य तथा केंद्र सरकार इस मामले में फेल साबित हुई है। इस पत्र में महामहिम राष्ट्रपति महोदय से इस केस में रुचि लेकर दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करके मृतका तथा उसके परिवार को न्याय दिलवाने की बात की गई है। जिसके चलते भीम सेना की ओर से उत्तर प्रदेश सरकार व पुलिस की कार्रवाई पर अषंतोष प्रकट करते जोरदार नारे बाजी की गई तथा इंसाफ की मांग की गई। इस अवसर पर प्रेम जोतरा, पंकज भगत, किशोर चंद अत्री, अंकुश, सतनाम, नन्नू, रंजीत भगत, नरेश भगत, पंकज कबीर नगर, यशपाल भट्टी, रमेश चंद्र, दर्शन पाल भगत, सुभाष वर्मा, सूरज गिल, अजीत भगत आदि उपस्थित थे।

error: Content is protected !!