22 वर्षीय मनीषा उत्तर प्रदेश के गांव हाथरस में निर्मम हुए गैंगरेप में शिवसेना भी आगे आई। शिवसेना के पंजाब अध्यक्ष योग राज शर्मा ने  गैंगरेप के दोषियों को पकड़ कर केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर जिस प्रकार इस्लामिक देश गैंगरेप आरोपियों को सजा देते हैं। वैसा ही कानून पारित कर सजा देकर मनीषा को न्याय मिलना चाहिए। आज देश में अंधा कानून नजर आ रहा। कभी निर्भया गैंगरेप कभी मनीषा गैंगरेप कब तक चलेगा। अंधा कानून आज इस लोकतंत्र देश में। देश की बेटियां सुरक्षित नहीं। कब तक चलता रहेगा यह सिलसिला एक तरफ नारा है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ। परंतु अब नहीं सुरक्षित है। देश की हर बेटी योगराज शर्मा ने कहा कि महाराष्ट्र में तो भाजपा वाले देश बेटी कहते हैं। कंगना को लेकर न्याय की दोहाई देते हैं। आज देश में केंद्र में भाजपा की सरकार यूपी में योगी सरकार के ऊपर प्रश्न चिन्ह है। आज देश के लोग निर्भया की भांति मनीषा को भी इंसाफ दिलाने हेतु सड़कों पर हैं। प्रदेश महासचिव जोगिंदर पाल जगी ने कहा कि आज देश का हर एनजीओ सामाजिक संस्थाएं मनीषा को इंसाफ दिलाने के लिए इंसाफ दिलाने के लिए आवाज बुलंद कर रही हैं। कैंडल मार्च निकाले जा रहे हैं। शिवसेना भी न्याय दिलाने हेतु कठोर कानून बनाने के लिए आवाज बुलंद कर रही है। जिला गुरदासपुर जिला पठानकोट प्रभारी सौरव ने योगराज शर्मा के आदेश अनुसार दोनों जिलों में शिव सैनिकों को आदेश जारी किए हैं कि मनीषा को न्याय दिलवाने हेतु देश की जनता के साथ आवाज बुलंद करें। अंत में योगराज शर्मा ने कहा की शिवसेना के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह मनीषा के परिवार से संवेदना प्रकट करने जा रहे थे। लेकिन यूपी सरकार पुलिस ने रोक दिया। अब देश का लोकतंत्र का चौथा स्तंभ मीडिया मनीषा को इंसाफ दिलाने प्रति आवाज उठाना चाहते हैं। लेकिन मीडिया को रोककर भी लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। जब से यूपी में योगी की सरकार आई है क्राइम चरम सीमा पर पहुंच चुका है। यूपी सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देकर यूपी में गवर्नीय राज्य स्थापित किया जाए।

error: Content is protected !!