हरीश रावत वीरवार देर रात अचानक नवजाेत सिंह सिद्धू की काेठी पर पहुंचे। उन्होंने सिद्धू से लंबी चर्चा की और इसके बाद उनके निवास स्थान से बाहर पत्रकारों से बातचीत की। बताया जाता है कि कांग्रेस सिद्धू को पंजाब में पार्टी में महत्वपूर्ण भूमिका देने जा रही है और हरीश रावत इसी बाबत सिद्धू से मिलने पहुंचे थे। उनकी सिद्धू से इस मौके पर लंबी बातचीत हुई। बैठक के दौरान सिद्धू की पत्पी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू के भी माैजूद रहने की खबर है। हरीश रावत ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के साथ उन्होंने पार्टी को लेकर और किसान आंदोलन को लेकर बातचीत की है। सिद्धू पार्टी के लिए हर रूप से महत्वपूर्ण है उनकी सेवाओं का सदुपयोग करेंगे। राहुल गांधी हम सब के नेता हैं। राहुल गांधी की रैली में सिद्धू जरूर जाएंगे और मैं उन्हें खुद लेकर जाऊंगा। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजाेत सिंह सिद्धू के बीच चल रहे विवाद पर रावत ने कहा कि दोनों बड़े और छोटे भाई हैं, जब बैठेंगे सभी बातें भी हल हो जाएंगी। आने वाले दिनों में सिद्धू पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के हर कार्यक्रम में नजर आएंगे। सिद्धू कांग्रेस की भविष्य की पूंजी है। शिरोमणि अकाली दल और भाजपा के अलग होने के बाद बड़े प्रतिद्वंद्वियों को आप किस रूप में लेते हैं पर रावत ने कहा कि कांग्रेस के पास दो बड़ी दो बड़ी तोपे हैं। कैप्टन अमरिंदर के पास अनुभव है तो नवजोत सिंह सिद्धू के पास लोगों की नब्ज है।

पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू काे लेकर पंजाब कांग्रेस में हलचल तेज हो गई है। पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने देर रात यहां नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर उनसे मुलाकात की। रावत ने कहा कि सिद्धू जल्‍द ही सक्रिय होंगे। सिद्धू कांग्रेस के लिएहर रूप में महत्‍वपूर्ण हैं और पार्टी उनका सदुपयोग करेगी। सिद्धू पंजाब में राहुल गांधी की रैली में आएंगे और मैं खुद उनको लेकर आऊंगा।

By Desk

error: Content is protected !!