पठानकोट के सिविल हॉस्पिटल से सिविल सर्जन डॉ.जुगल किशोर के आदेशों व नोडल अफसर डॉ.निशा ज्योति के दिशा निर्देशानुसार आज स्वास्थ्य विभाग की टीम मोहल्ला दौलतपुर में पहुंची,जहां डेंगू का पॉजीटिव केस आने के कारण लगभग 38 घरों का सर्वे कर स्प्रे करवाई गई। इस दौरान एक घर में मच्छर का लावरा,जिसको टीम की ओर से मौके पर ही नष्ट कर दिया गया तथा लोगों को अवेयर करने संबंधी कुछ टिप्स भी दिए। उन्होंने डेंगू के मुख्य लक्ष्ण बारे बताते हुए कहा कि तेज बुखार, सिरदर्द, मासपेशियों में दर्द, चमड़ी पर लाल दाने, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द आदि इसके मुख्य लक्ष्ण है। इस मौके पर हैल्थ इंस्पैक्टर अविनाश शर्मा व हैल्थ इंस्पैक्टर राज अमृत सिंह ने लोगों को बताया कि यह मच्छर साफ खड़े पानी के स्त्रोतों में पैदा होता है तथा यह सिर्फ दिन के वक्त ही काटता है। इसलिए वह कपड़े ऐसे पहने जिससे उनका शरीर पूरी तरह से ढका रहे और उक्त मच्छर हमें काट न सके। उन्होंने लोगों को यह भी बताया कि टूटे बर्तनों, ड्रमों व टायरों आदि को भी खुले में न रखें तथा यदि उनके आसपास किसी तरह का पानी खड़ा रहता है तो उसमें काला जला हुआ तेल डाल दें ताकि उक्त मच्छर पैदा न हो सके। उन्होंने कहा कि डेंगू का मच्छर सप्ताह में अंडे से पूरा मच्छर बनता है, इसलिए कूलरों, गमलों, फ्रिज की ट्रे व अन्य पानी की बर्तनों को सप्ताह के हरेक शुक्रवार को ड्राई डे के तौर पर मनाते हुए साफ करें और उन्हें अच्छी तरह से सुखाकर रखें ताकि उक्त मच्छर किसी भी प्रकार से पनप न सके।

error: Content is protected !!