लोगों ने जताया रोष, कहा 150 से अधिक घरों और 325 एकड़ खड़ी फसल को तबाह करेगा नगर निगम
गांव दर्शोपुर में पुलिस और ग्रामीणों के बीच बहसबाजी हुई

नगर निगम का दायरा बढ़ने से डेयरीवाल और दर्शोपुर गांव की 325 एकड़ जमीन को नगर निगम ने टेकओवर किया है। लेकिन अब वहां लोगों ने पंचायती जमीन पर 150 से अधिक मकान बना लिए हैं और बाकी जमीन पर खेती की जा रही है। अब निगम द्वारा जमीन को एक्वायर करने का गांवों के लोग विरोध कर रहे हैं। पिछले 10 दिन से निगम की टीम निशानदेही की कोशिश कर रही थी पर गांव के लोग धरना देकर रोज निशानदेही से रोक देते थे। मंगलवार को स्थानीय लोग गांव दर्शोपुर में विरोध करते रहे, जबकि, निगम अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ डेयरीवाल पहुंचे और पुलिस की सहायता से बुर्जियां भी गाड़ दी। पता चलने पर प्रदर्शनकारी डेयरीवाल पहुंचे लेकिन, तब तक पुलिस और निगम की टीम वहां से निकल चुकी थी। प्रदर्शनकारियों ने निगम पर धोखे से निशानदेही करवाने की बात का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि बेशक बुर्जियां लगा दी गई हैं। लेकिन, वह किसी भी कीमत पर अपनी जमीनें नहीं छोड़ेगे, भले ही इसके लिए उन्हे कुछ भी कुर्बानी देनी पड़ जाए।
पुलिस छावनी तब्दील किया गांव दर्शोपुर
सुबह करीब 11 बजे निगम की टीम पुलिस लाइन व थाना सदर की पुलिस के साथ दर्शोपुर पहुंची। जबकि, एक टीम डेयरीवाल स्थित गौशाला एरिया में पहुंच गई। मौके पर पहुंचे एसआई अजविंद्र सिंह, थाना कानवां के एसआई राम भजन के सामने लोगों ने रोष व्यक्त किया। जिस पर पुलिस ने उन्हें समझाबुझा कर वहां से डेयरीवाल भेज दिया। वहीं, निशानदेही करवाने के लिए निगम ने पुलिस प्रशासन से सहायता मांगी थी। जिसके बाद पुलिस लाइन व थाना सदर से भारी संख्या में पुलिस दर्शोपुर व डेयरीवाल में पहुंच गई।


70 वर्षों से कर रहे खेती, किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे जमीन
दर्शोपुर में रोष व्यक्त करते प्रदर्शनकारी मोहन लाल, अजीत राम, राज कुमार, बंसी लाल, जगदीश राज, जोगिंद्र सिंह, युवराज सिंह, सुखबीर सिंह व हरंबस लाल ने कहा कि वह 70 वर्षों से वहां खेतीबाड़ी कर रहे हैं।

बकायदा उक्त जमीन की गिरदावरी उनके नाम पर है। सरकार ने केवल उक्त जमीन को हड़पने के इरादे से ही डेयरीवाल को निगम के अधीन लिया था। निगम अब वहां निशानदेही करवाएगी और उसके बाद उन्हें वहां से बाहर कर देगी। जिससे वह पूरी तरह उजड़ जाएंगे। कहा कि वह निगम को निशानदेही नहीं करने देंगे।


-दर्शोपुर से निशानदेही का काम शुरु करवा दिया गया है। पुलिस की मौजूदगी में पहले दिन करीब 6 जगह पर बुर्जियां लगवा दी गई हैं। आगामी एक सप्ताह के भीतर निगम के अधीन आती 325 एकड़ भूमि पर निशानदेही करवा ली जाएगी। जिसके बाद उक्त एरिया को निगम अपने अधीन ले लेगा।

error: Content is protected !!