कोरोना काल के दौरान शिक्षण संस्थान बंद होने के चलते आनलाइन शिक्षा दी जा रही है। इसके लिए सरकार द्वारा बच्चों को स्मार्टफोन भी बांटे जा रहे है, परन्तु प्राइवेट स्कूलों में पढऩे वाले जरूरतमंद बच्चों की तरफ ध्यान नही दिया जा रहा है। इसके लिए पठानकोट के प्रसिद्ध डॉक्टर खेडा परिवार ने प्रयास करते हुए श्री राम विद्या मंदिर हाई स्कूल जुगियाल रोड़ के जरूरतमंद बच्चों को स्मार्टफोन वितरित किए। स्कूल परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम दौरान डा.अरूण खेडा व नूतन खेडा की ओर से अमेरिका निवासी श्रीमती पदमा गुलाटी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य पर 25 विद्यार्थियों को स्मार्टफोन वितरित किए गए। इस दौरान विशेष तौर पर स्कूल चेयरमैन मणमहेश बिल्ला ने भी शिरकत की। इस अवसर पर डा.अरुण खेड़ा ने बताया कि उनकी बहन श्रीमती पदमा गुलाटी के जन्मदिवस पर उनके बच्चों ने उन्हें उपहार देने के रूप में पठानकोट के जरूरतमंद बच्चों की मदद करने का फैसला किया और मौजूदा समय में ऑनलाइन शिक्षा के दौरान जरूरतमंद बच्चों को पेश रही समस्या को समझते हुए अमेरिका से 100 स्मार्टफोन भेजे गए है। जिसके तहत आज पहली किश्त में 25 विद्यार्थियों को स्मार्टफोन दिए गए है और साथ ही उन्हें उक्त स्मार्टफोन का सही इस्तेमाल करते हुए आधुनिक शिक्षा के साथ जुडऩे एवं आनलाइन कक्षाओं में शामिल होने के लिए प्रेरित किया गया है। उन्होंने कहा कि आज के युग में स्मार्टफोन हर किसी की जरूरत बन चुका है लेकिन बच्चों को इसका इस्तेमाल अपनी शिक्षा ग्रहण करने के लिए ही करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जल्द ही पठानकोट के अन्य स्थानों पर जाकर स्कूली बच्चों को स्मार्टफोन वितरित किए जाएंगे ताकि वह जल्द आनलाइन शिक्षा के साथ जुड़ सके। इस दौरान स्कूल के चेयरमैन मणमहेश बिल्ला ने कहा कि सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों की सुविधाओं की तरफ सरकार ध्यान दे रही है लेकिन चैरिटेबल स्कूलों में पढऩे वाले जरूरतमंद बच्चों की तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिससे उनकी ऑनलाइन शिक्षा प्रभावित हो रही है लेकिन आज डॉक्टर खेड़ा परिवार की ओर से बच्चों को स्मार्टफोन वितरित किए गए हैं, वह एक सराहनीय कार्य है। इस अवसर पर प्रिंसिपल सुखजीत कौर, पवन कुमार आदि उपस्थित थे।  

error: Content is protected !!