• हाईअलर्ट जारी, धारा-144 का उल्लंघन करने पर केस नहीं, 22 हजार पुलिस फोर्स तैनात, कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द
  • किसान संगठन बोले- एंबुलेंस पर रोक नहीं, आपात सेवाएं बहाल रहेंगी, पहले ही दिन 6 हजार ट्रेन टिकट कैंसिल, 30 करोड़ का नुकसान

तीन खेती विधेयकों के खिलाफ किसानों, राजनीतिक पार्टियों का पंजाब बंद आज है। इसका व्‍यापक असर होने की संभावना है। इस दाैरान बाजार बंद रहने के आसार हैं। बसेंं, रेल आदि नहीं चलेंगी। किसानों और राजनीतिक पार्टियां अपने अपने स्तर पर धरने और प्रदर्शन करेंगी। किसानों के 31 संगठनों ने इस बंद का आह्वान किया है और इसमें आढ़तियों के दोनों ग्रुप भी शामिल होंगे। दोधियों ने भी ऐलान किया है कि वे दूध आदि की सप्लाई नहीं करेंगे। इससे शहरों में दूध, सब्जियों आदि की सप्लाई प्रभावित हुई है। वैसे विभिन्‍न जगहों पर किसान कल से ही रेल ट्रैकाें पर जमे हुए हैं। उन्‍होंने वहां शमियाने लगा लिए हैं।

संगठनों ने कहा है कि बाजारों आदि को बंद करवाने के लिए कोई जोर जबरदस्ती नहीं की जाएगी। भाकियू के प्रधान बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा है कि लोग खुद ही बंद में हमारा साथ दे रहे हैं। हमने उनसे बंद को पूरी तरह कामयाब करने को कहा है और समझाया कि यह मसला अकेला किसानों का नहीं है बल्कि राज्य की पूरी आर्थिकता से जुड़ा है। उन्होंने कहा कि हम कहीं भी जबरदस्ती बंद नहीं करवाएंगे।

किसानों की 80 टीमें 200 जगह रोकेंगी रास्ता

किसान जत्थेबंदियों ने सूबे में कुल 200 पाॅइंट्स पर रास्ता रोकने का फैसला किया है ताकि कोई भी राज्य से बाहर या अंदर न जा सके। यहां किसान मोर्चा संभाले रहेंगे। इसके लिए करीब 80 टीमों का गठन किया है जो इंटर स्टेट वाले क्षेत्रों में धरना देंगी।

  • सूबे के 38 इंटर स्टेट पॉइंट्स पर भी किसान मोर्चा संभालेंगे।
  • एनएच-47, जिसमें अंबाला, राजपुरा मार्ग शामिल हैं, को भी रोके रखेंगे।
  • एनएच-7, जीरकपुर जो कि पंचकूला, कालका को जाने वाले रास्ता बंद किया जाएगा।
  • माधोपुर बाॅर्डर यानी पठानकोट की तरफ से जेएंडके जाने वाला मार्ग बंद रहेगा।
  • फिराेजपुर फाजिल्का की तरफ से राजस्थान जाने वाला मार्ग बंद रहेगा।
  • बठिंडा-सिरसा की तरफ हरियाणा को जाने वाला मार्ग बंद रहेगा।
  • स्टेट हाईवे हिसार को जाने वाले पटियाला समाना व पातड़ां वाला रास्ता भी बंद रहेगा

किसान संगठन बोले- पेट्रोल पंप भी बंद रहेंगे, स्टेट बाॅर्डर पर भी रहेगा किसानों का धरना

  • निजी व सरकारी ट्रांसपोर्ट बंद रहेगा। सिनेमा घर, बड़े मॉल व छोटे-बड़े बाजार भी बंद रहेंगे। पेट्रोल पंप की एसोसिएशनों ने पूर्ण तौर पर किसानों का साथ देने का फैसला किया है। आपातकाल सेवाओं को बहाल रखा गया है।

By Desk

error: Content is protected !!