• अनुभवी वालंटियर्स को पहल और उम्र में छूट देने का फैसला।
  • सरकार पर सालाना 103.73 करोड़ का बोझ बढ़ेगा।

पंजाब के प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों की कमी पूरा करने को सूबा सरकार प्री प्राइमरी अध्यापकों के 8393 पदों पर भर्ती करेगी। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में कई अन्य अहम फैसलों पर भी मुहर लगाई गई। इनमें नर्सिंग कोर्सों की फीसों में संशोधन, कपूरथला व होशियारपुर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों का नाम बदलने का फैसला भी शामिल है।

मंत्रिमंडल ने पंजाब स्टेट विजिलेंस कमिशन बनाने, पंजाब राज्य पुलिस शिकायत अथॉरिटी के काम-काज संबंधी नियमों समेत अध्यापकों की भर्ती में मौजूदा अनुभवी वालंटियर्स को प्राथमिकता और उम्र में छूट देने को मंजूरी दी गई। वालंटियर्स को 10 अंकों में 1 अंक प्रति वर्ष के हिसाब से विशेष प्राथमिकता दी जा सकती है। इन 8393 अध्यापकों के प्रोबेशन पीरियड के दौरान पहले 3 साल तक सालाना 103.73 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय बोझ पड़ेगा। जबकि प्रोबेशन पूरा होने पर यह बढ़कर सालाना 374.20 करोड़ रुपए हो जाएगा।

अनुभवियों को प्रति वर्ष 1 अंक की विशेष प्राथमिकता
कैबिनेट की तरफ से स्कूल शिक्षा विभाग के उस प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी गई, जिसके अंतर्गत वॉलंटियरों जैसे शिक्षा प्रोवाईडरों /एजुकेशन प्रोवाईडरों /एजुकेशन वॉलंटियरों, ईजीएस वॉलंटियरों, एआईई वॉलंटियरों और स्पेशल ट्रेनिंग रिसोर्स (एसटीआर) वॉलंटियरों आदि को अधिकतम आयु सीमा में छूट दी जाएगी जो अलग-अलग शिक्षा स्कीमों /प्रोग्रामों के अंतर्गत निश्चित मेहनताने पर काम कर रहे हैं।

नर्सिंग कोर्सों के लिए अब यह होगा फीस स्ट्रक्चर

एएनएम कोर्स की फीस सरकारी कालेजों के लिए प्रति वर्ष 5 हजार रुपए से बढ़ा कर 7 हजार की गई है। प्राईवेट कालेजों के लिए प्रति साल 14 हजार 375 रुपए से बढ़ा कर 18 हजार रुपए होगी। बीएससी नर्सिंग (बेसिक) और बीएससी नर्सिंग (पोस्ट बेसिक) कोर्स की फीस नहीं बढ़ेगी। प्राइवेट कालेजों में इसको 40 हजार 250 रुपए प्रति साल से बढ़ा कर 50 हजार रुपए प्रति साल करने का प्रस्ताव है, जो करीब 40% ज्यादा है। मंत्रिमंडल ने 5 साल के लिए सरकारी व निजी संस्थानों में आगामी बैच के लिए फीसों में हर साल 5% बढ़ोतरी की मंजूरी दी है।

विजिलेंस कमिशन में चेयरमैन, 2 मेंबर, 5 साल होगा कार्यकाल

सरकारी मुलाजिमों में भ्रष्टाचार पर नकेल डालने व ज्य़ादा पारदर्शिता लाने के मकसद से एक बहु-सदस्यीय स्टेट विजिलंेस कमिशन की स्थापना को मंजूरी दे दी। अायोग में एक चेयरमैन व दो मैंबर होंगे। जबकि कमिशन का कार्यकाल पांच साल का होगा।

कपूरथला और होशियारपुर के मेडिकल कॉलेजों का नाम बदला

मंत्रिमंडल ने सरकारी मेडिकल कॉलेज, कपूरथला का नाम बदल कर श्री गुरु नानक देव जी स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज और सरकारी मेडिकल कॉलेज होशियारपुर का नाम शहीद ऊधम सिंह स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज रखने की मंजूरी दे दी है।

By Desk

error: Content is protected !!