साहित्य कलश पठानकोट इकाई की ओर से राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की जयंती के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय पेंटिंग व कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है संस्था के पठानकोट इकाई के अध्यक्ष डॉ मनु मेहरबान महासचिव रमन गुप्ता उपाध्यक्ष मनीष शर्मा सलाहकार डॉ दिनेश शर्मा डॉक्टर राकेश शर्मा मोहन लाल शर्मा ने बताया कि इस प्रतियोगिता में देश भर से विद्यार्थी भाग ले रहे हैं अध्यक्ष डॉ मनु मेहरबान ने कहा कि संस्था के संस्थापक सागर सू द की नेतृत्व में यह प्रतियोगिता करवाई जा रही है जिसमें विद्यार्थियों का जबरदस्त रुझान है प्रथम दिन पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश जम्मू कश्मीर व राजस्थान के विद्यार्थियों ने भाग लिया विद्यार्थियों ने प्रथम दिन192 विद्यार्थियों ने कविता व पेंटिंग प्रतियोगिता में भाग लिया डॉ मनु मेहरबान ने कहा कि रामधारी सिंह दिनकर का जन्म 23 सितंबर1908 मुंगेर जिले के सिमरिया घाट गांव बिहार में हुआ और उनकी प्रसिद्ध रचनाओं में रेणुका रसवंती बापू कुरुक्षेत्र रश्मिरथी और परशुराम की प्रतिज्ञा प्रमुख है उन्होंने कहा कि 1971 में उर्वशी पर हिंदी साहित्य का सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया और विद्यार्थी रामधारी सिंह दिनकर की रचनाओं को कंठस्थ याद कर बहुत बढ़िया तरीके से प्रस्तुत कर रहे हैं उन्होंने कहा कि वीर रस के महान कवि रामधारी सिंह दिनकर की रचनाओं से युवा वर्ग को रूबरू करवाना ही उनका मुख्य उद्देश्य है संस्थापक सागर सूद ने पठानकोट इकाई की प्रशंसा करते हुए कहा कि पठानकोट इकाई बेहतरीन कार्य कर रही है अध्यक्ष डॉ मनु शर्मा पैटर्न प्रिंसिपल डॉ दिनेश शर्मा डॉ राकेश शर्मा ने कहा कि साहित्य समाज का दर्पण है और हमें अपने साहित्यकारों को नई पीढ़ी से रूबरू करवाना अवश्य चाहिए

error: Content is protected !!