पठानकोट : नगर निगम की नई वार्डबंदी पर 19 ऑब्जेक्शन दर्ज कराए गए हैं, जिन्हें निगम की ओर से सेक्रेटरी लोकल बॉडी को भेजा गया है। सेक्रेटरी लोकल बॉडी की ओर से उन ऑब्जेक्शन पर सुनवाई कर फैसला लेंगे। दूसरी तरफ वार्डबंदी पर हाईकोर्ट का रुख करने वाली भाजपा भी चुप्पी साधे है।

बता दें कि नई वार्डबंदी में 18 जनरल, 20 महिला जनरल, 5 एससी महिला, 5 एससी और 2 बीसी वार्ड रिजर्व किए गए हैं। वार्डों की तोड़-मरोड़ से भाजपा के पूर्व पूर्व मेयर अनिल वासुदेवा समेत कई दिग्गजों का चुनाव लड़ पाना संदिग्ध हो गया है। वार्डबंदी पर 19 लोगों ने ऑब्जेक्शन दर्ज कराए हैं और वार्डों की रोटेशन गलत ढंग से करने और ज्यादातर आबादी को काटकर इधर-उधर मिलाने के ऑब्जेक्शन लगाए हैं।

इनमें भाजपा के सबसे ज्यादा 15 ऑब्जेक्शन आए हैं। इनमें रिजर्वेशन से जुड़ी 11 और एरिया में तोड़ मरोड़ की 8 ऑब्जेक्शन शामिल हैं। निगम के एडिशनल कमिश्नर सुरिंद्र सिंह ने कहा कि ऑब्जेक्शन को सेक्रेटरी लोकल बॉडी को भेजा दिया जाएगा, जिस पर फैसला सेक्रेटरी की ओर से लिया जाएगा कि उन ऑब्जेक्शन को कंसीडर करना है या फिर उनकी सुनवाई की जानी है।

उसके बाद वार्डबंदी का फाइनल नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा।

By Desk

error: Content is protected !!