पठानकोट : कोविड-19 के दौरान पंजाब सरकार द्वारा समूह कारोबारियों को राहत देने के बावजूद टैंट कारोबारियों से भेदभावपूर्ण रवैया अपनाने से गुस्साए टैंट कारोबारियों ने मंगलवार को जिला पठानकोट की समस्त 535 दुकानों को बंद रखा तथा सरकार के खिलाफ रोष जताया। पठानकोट टैंट डीलर्स ऐसोसिएशन के प्रधान संदीप महाजन ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा कोरोना महामारी के दौरान धीरे-धीरे सभी उद्योगों तथा संस्थानों को राहत दी जा रही है परंतु अभी तक टैंट डीलर्स एसोसिएशन को कोई राहत न मिलने के कारण उनके लिए परिवारों का गुजारा करना भी मुश्किल हो चुका है। संदीप महाजन तथा समूह टैंट कारोबारियों ने कहा कि एसोसिएशन के सदस्यों ने मंगलवार को शांतमय ढंग से अपना रोष जताया गया है। बुधवार को वह अपनी इन मांगों को लेकर पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल से मिलेंगे तथा टैंट कारोबारियों को भी राहत देने के मामले में मांग पत्र देते हुए उनकी समस्याओं का समाधान करने की अपील करेंगे।

आज प्रथम दिन उन्होंने समूह साथियों के साथ धरना दिया और पंजाब सरकार से यह मांग की कि उनके व्यवसाय पर कुठाराघात ना किया जाए उन्होंने कहा जब अन्य व्यवसायों को छूट दी गई है तो टेंट डीलर्स के साथ ऐसा भेदभाव वाली नीति क्यों अपनाई जा रही है उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी करोना के कारण टेंट व्यवसाय गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है और एक शादी के साथ कितने व्यवसाय जुड़े होते हैं उन्होंने मांग की कि उनकी मांगों को जल्द से जल्द मांगा जाए और टेंट उद्योग को भी राहत प्रदान की जाए जिला पठानकोट के सभी टेंट व्यवसाय से जुड़े सभी सदस्यों मैं आज अपनी दुकानें बंद कर सरकार की भेदभाव नीति के विरुद्ध प्रदर्शन किया। इस अवसर पर नरेंद्र महाजन, राजीव महाजन, तेजपाल, गिरीश महाजन ,अखिल महाजन,मुनीष महाजन, रजत बाली, विजय सैनी, राजन ,अशोक चोपड़ा, नितिन महाजन व अन्य भी उपस्थित थे ।

By Desk

error: Content is protected !!