मोहाली पुलिस ने एक नामी मल्टी करोड़ होटल चेन OYO के मालिक और सीईओ समेत 7 लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश के तहत धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज किया है। यह केस रामगढ़ रोड पर कासा विला के मालिक विकास गुप्ता वासी मनीमाजरा की शिकायत पर दर्ज किया गया है। उन्होंने OYO कंपनी के साथ हुए करार खत्म होने के बावजूद उसके बैंक्वेट हॉल को अवैध रूप से इस्तेमाल कर पैसे वसूलने का आरोप लगाया है। 

उन्होंने ओयो कंपनी के साथ हुए करार खत्म होने के बावजूद उसके बैंक्विट हॉल को अवैध रूप से इस्तेमाल कर पैसे वसूलने का आरोप लगाया है। यह मामला जिला पुलिस की जांच और डीए लीगल की राय के बाद डेराबस्सी पुलिस थाने में एफ आई आर नंबर 289 आईपीसी 420 व 120 बी के तहत दर्ज किया गया है। आरोपियों में ओयो के मालिक रितेश अग्रवाल, सीईओ संदीप लोधा और कंपनी के अन्य कर्मचारियों में तरुण अलवादी, हेमंत पंत, सनी नागपाल, सोविल सिन्हा बाबू एवं सचिन बग्गा शामिल हैं।

विकास गुप्ता ने बताया कि उनका रामगढ़ रोड पर गांव ककराली में कासा विला नामक बैंक्वेट हॉल है। उनकी कंपनी के साथ OYO ने 29 जून 2019 को एग्रीमेंट किया कि उक्त बैंक्वेट हॉल में बुकिंग करके शादी, विवाह आदि समारोह का आयोजन और उसकी बुकिंग ओरेवल कंपनी के जिम्मे रहेगा जो बदले में हर महीने एग्रीमेंट में फिक्स रकम के मुताबिक हर माह भुगतान करेगी।
जनवरी 2020 तक एग्रीमेंट मुताबिक विकास की कंपनी को भुगतान किया। फिर OYO ने नए एग्रीमेंट मुताबिक बनती रकम देनी बंद कर दी और 16 मार्च 2020 को नोटिस विकास गुप्ता को भेज दिया जिसमें 31 मार्च तक उन्हें बैंक्वेट हॉल के तमाम दस्तावेज, साजो समान और एनओसी आदि उनके पास जमा कराने के लिए लिखा। नोटिस में कहा गया कि यदि विकास गुप्ता की कंपनी ऐसा नहीं करती तो एग्रीमेंट कैंसिल समझा जाए।

By Desk

error: Content is protected !!