शिवसैनिकों के हमले में घायल रिटायर्ड नेवी ऑफिसर मदन शर्मा को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि अगर सरकार कानून व्यवस्था नहीं संभाल सकती है तो उद्धव ठाकरे को इस्तीफा दे देना चाहिए. 

उन्होंने कहा कि मेरे साथ बहुत बुरा हुआ. मैं एक सीनियर सिटिजन हूं. शिवसैनिक मुझे बात करने के लिए बुलाए थे, लेकिन बिना बातचीत किए, मारना शुरू कर दिया. मारपीट करने के बाद गिरफ्तारी के लिए मेरे घर पुलिस भेज दी गई. पुलिस पर राजनीतिक दबाव है.

उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मेरे हालचाल लिया, मैंने उन्हें घटना के बारे में बताया है. रक्षा मंत्री ने मदद का वादा किया है. मैंने सुरक्षा की मांग की है. बातचीत के दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि पूर्व सैनिक पर इस तरह का हमला अत्यंत खेदजनक है और इसे स्वीकार नहीं किया जाएगा. 

रिटायर्ड नेवी ऑफिसर ने कहा कि कंगना रनौत की घटना से मुझे निराशा हुई थी. वाट्सऐप ग्रुप जिसमें मैंने तस्वीर साझा की है, उसमें विधायक और सांसद हैं. किसी को आपत्ति नहीं थी. अगर उन्हें आपत्ति थी तो मेरे साथ बात करनी चाहिए थी. 

उद्धव ठाकरे को जनता से माफी मांगनी चाहिए. उनके पास बड़े से व्यवहार करने का संस्कार नहीं है. बालासाहब महान कॉर्टूनिस्ट थे. कॉर्टून से चीजें निकलकर ऊपर आती हैं. इस कॉर्टून को इनाम देना चाहिए. 

दरअसल, पूर्व अधिकारी मदन शर्मा ने सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का कार्टून फरवर्ड किया था. इस बात से नाराज शिवसेना कार्यकर्ताओं ने उनकी पिटाई कर दी. हालांकि बाद में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया, लेकिन शनिवार दोपहर तक सभी आरोपियों को 5 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत मिल गई.

By Desk

error: Content is protected !!