भारतीय जनता युवा मोर्चा ने प्रधान भानु प्रताप के नेतृत्व में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाम पर डीसी पठानकोट को मांग पत्र सौंपा। इस दौरान उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने कोरोना काल के दौरान ओपन केंद्रों के छात्रों के परिणाम रोक दिए हैं, जबकि सरकारी स्कूलों के बच्चों का एक ही पेपर लेकर उन्हें पास कर दिया। इसलिए पंजाब सरकार इन ओपन केंद्रों के बच्चों के भी नतीजे घोषित करे। सचिव दीपांशू घई, जिला प्रधान भाजुयमों वरूण विक्की ने कहा कि पंजाब सरकार का पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप मामले के बाद यह दूसरा मामला है। पंजाब की कांग्रेस सरकार विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा देने, नौजवानों को सुविधा देने, नशा खोरी रोकने, रोजगार देने में फेल साबित हुई है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि पंजाब सरकार दसवीं कक्षा के हर बच्चे से इंसाफ करें। इस अवसर पर संजू महाजन, गुलशन चौहान भी मौजूद थे

By Desk

error: Content is protected !!