प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ये अकाउंट उनकी निजी वेबसाइट से लिंक था. उनके इस अकाउंट पर 25 लाख से ज्यादा फॉलोवर्स हैं.अकाउंट हैक करने के बाद हैकर्स बिटक्वॉइन की मांग करने लगे. हैकर्स ने ट्वीट करते हुए पीएम नेशनल रिलीफ फंड में क्रिप्टो करेंसी के जरिए दान देने की मांग की. हालांकि, बाद में अकाउंट को रिकवर कर लिया गया.

स्टोरी हाइलाइट्स

  • बाद में बोगस ट्वीट्स डिलीट किए गए
  • हैकर ने ट्वीट में बिटक्वॉइन की मांग की
  • हैकर ने अपने ग्रुप का नाम जॉन विक बताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पर्सनल वेबसाइट का ट्विटर अकाउंट गुरुवार को हैकरों ने हैक कर लिया. ट्विटर ने इस बात की पुष्टि भी की है. हैकर ने पीएम मोदी की पर्सनल वेबसाइट के ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक कई ट्वीट किए और क्रिप्टों करेंसी से जुड़े कई ट्वीट किए गए. हैकर ने कोविड-19 रिलीफ फंड के लिए डोनेशन में बिटक्वॉइन की मांग भी की है. हालांकि तुरंत ये ट्वीट्स डिलीट कर दिए गए.

टि्वटर अकाउंट पर किए गए एक ट्वीट में लिखा था, “मैं आप लोगों से अपील करता हूं कि कोविड-19 के लिए बनाए गए पीएम मोदी रिलीफ फंड में डोनेट करें.” ट्विटर ने कहा कि उसे प्रधानमंत्री मोदी की वेबसाइट अकाउंट की गतिविधि की जानकारी थी और अब इसे सुरक्षित करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं.

By Desk

error: Content is protected !!