पठानकोट : राज्य सरकार की ओर से की जा रही अनदेखी के रोष स्वरुप पंजाब-यूटी मुलाजिम व पेंशनर्ज सांझा फ्रंट के आह्वान पर 16 से 30 सितंबर तक सभी मुलाजिम जिला हेड क्वाटर में हड़ताल पर रहेंगे। यह बात जिला कोऑर्डिनेटर गुरनाम सैनी व पेंशनर्ज फ्रंट के कन्वीनर नरेश कुमार ने बैठक के दौरान कही।

खानपुर में पंजाब सुबॉर्डिनेट सर्विसज फेडरेशन के अध्यक्ष राजेंद्र धीमान के नेतृत्व में हुई बैठक के दौरान 16 से 30 सितंबर तक चलने वाली हड़ताल संबंधी रुप रेखा तैयार की गई। नरेश कुमार ने बताया कि कर्मचारियों की चिर लंबित मांगों के लिए फ्रंट के पदाधिकारियों की 20 अगस्त को कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा और 31 अगस्त को वित्त मंत्री पंजाब मनप्रीत सिंह बादल से दोबारा बैठक हुई, वह बेनतीजा रही। हालांकि, अगले सप्ताह सरकार ने प्रदेश के नेताओं से इस मसले पर मीटिग रखी गई है परंतु बावजूद इसके फ्रंट ने फैसला किया है कि अगर 15 सितंबर तक सरकार ने उनकी मांगों को लागू न किया तो वह 16 सितंबर से जिला हेडक्वाटर में सुबह 9 से सायं 5 बजे तक हड़ताल पर रहेंगे। इसके बावजूद भी यदि सरकार ने उनकी मांगों को लागू न किया गया तो अक्टूबर से वह जेल भरो आंदोलन की प्रक्रिया शुरु कर देंगे। सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाली सुविधाओं को सरकार लगातार कम कर रही है। सरकार की कर्मचारियों विरोधी नीतियों को लेकर कर्मचारी सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो गए हैं। इस मौके पर फेडरेशन कनवीनर राम दास, बिक्रमजीत रेखी, डाक्टर लेख राज, सत्य प्रकाश, मास्टर कैडर यूनियन अध्यक्ष रमन कुमार, जोगिद्र पाल, सीपीएफ यूनियन अध्यक्ष निरपेश डोगरा, लाल, प्रिसिपल मंगल दास, चमन लाल, सुखविद्र शर्मा, देस राज व रतन लाल आदि मौजूद थे।

By Desk

error: Content is protected !!