पंजाब के पठानकोट जिले में लुटेरों द्वारा हमला किए जाने के कुछ दिन बाद सोमवार को एक निजी अस्पताल में पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना के फुफेरे भाई की मौत हो गई. पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी. इस बीच, पंजाब पुलिस ने मामले की जांच के लिये चार सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन किया है. रैना द्वारा ट्विटर पर घटना की जांच कराने की मांग किये जाने के बाद यह कदम उठाया गया है. हमले में रैना के फूफा और उनके बेटे की मौत हुई है. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह ने भी क्रिकेटर रैना को आश्वासन दिया है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. चार सदस्यीय जांच दल का नेतृत्व महानिरीक्षक (सीमा क्षेत्र) एस पी एस परमार करेंगे. एसएसपी गुलनीत सिंह खुराना, पुलिस अधीक्षक (जांच) प्रभजोत सिंह विर्क और धार कलां के डीएसपी रविन्दर सिंह इसके सदस्य होंगे.

पुलिस के अनुसार, हमला 19 और 20 अगस्त की दरम्यानी रात को थारियाल गांव में हुआ था. हमले में रैना के फूफा अशोक कुमार (58) के सिर में चोट लगी थी और उसी रात उन्होंने दम तोड़ दिया था. पुलिस ने कहा था कि हमले में परिवार के चार और लोग घायल हुए हैं. पठानकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गुलनीत सिंह खुराना ने बताया कि अशोक के बड़े बेटे कौशल कुमार (32) की सोमवार को एक निजी अस्पताल में मौत हो गई.
 रैना ने ट्विटर का रुख करते हुए दोषियों को सजा दिलाने की मांग की है.’रैना ने लिखा, ”अभी तक हमें यह नहीं पता कि उस रात असल में क्या हुआ था और किसने ऐसा किया. मैं पंजाब पुलिस से इस मामले की जांच की अपील करता हूं. हमें कम से कम यह जानने का हक तो है कि किसने इस जघन्य अपराध को अंजाम दिया? उन अपराधियों को और अपराध करने से रोकना होगा.”

By Desk

error: Content is protected !!