• हाईकोर्ट के आदेश पर पीपीसीबी, माइनिंग, ड्रेन विभाग की बड़ी कार्रवाई
  • माइनिंग विभाग ने साल 2015 में रद्द की थी क्रशरों की रजिस्ट्रेशन लेकिन मालिक हाईकोर्ट से स्टे लेकर पांच साल से चला रहे थे क्रश

जाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (पीपीसीबी) ने मीरथल में चक्की दरिया और नरोट जैमल सिंह में रावी दरिया के बीच में चल रहे 20 क्रशरों को सील कर दिया है। बिजली कनेक्शन काट दिए हैं। सभी क्रशरों की रजिस्ट्रेशन माइनिंग विभाग ने 2015 में रद्द कर दी थी, पर हाईकोर्ट से स्टे लेकर सभी 5 साल से चला रहे थे। सिविल प्रशासन के निर्देशानुसार, पावरकॉम, ड्रेनेज विभाग, खनन विभाग व पुलिस विभाग की संयुक्त कार्यवाही के तहत आबादगढ़, चक्क-चिमना तथा सैदां ढाकी में चक्की दरिया में रिवर बेड के 50 मीटर में चलाए जा रहे 11 स्टोन क्रशर सील किए हैं।

बिजली कनेक्शन भी काट दिए गए। इसी तरह नरोट जैमल सिंह एरिया में रावी दरिया में 9 क्रशर सील कर बिजली कनेक्शन काटे हैं। माइनिंग अफसर गगन ने बताया कि जिले में नरोट जैमल सिंह और मीरथल के 20 क्रशर सील किए हैं। प्रदूषण व जियोलॉजी विभाग ने 2013 में रिवर बेड के 50 मीटर के दायरे में क्रशर चलाए जाने पर रोक लगाई थी। इसके खिलाफ क्रशर मालिक हाईकोर्ट चले गए थे। अगस्त 2015 में हाईकोर्ट ने मालिकों को स्टे लगा दिया था, पर माइनिंग विभाग ने उनकी रजिस्ट्रेशन रद्द कर दी थी। 5 साल से क्रशर हाईकोर्ट के स्टे आर्डर पर चल रहे थे।

By Desk

error: Content is protected !!