कांग्रेस और भाजपा में विकास कार्यों को लेकर क्रेडिट वार शुरू

पूर्व मेयर वासुदेवा ने कहा कि शहर में कराए जा रहे कार्यों का विधायक झूठा क्रेडिट ले रहे हैं

एमएलए अमित विज ने कहा कि पॉलिटीकल इश्यू छोड़ भाजपा पंजाब के हित की बात करे

निगम चुनाव से पहले कांग्रेस और भाजपा में विकास कार्यों को लेकर क्रेडिट वार शुरू हो गई है। भाजपा ने विधायक अमित विज पर निगम के कार्यों का झूठा क्रेडिट लेने का आरोप लगाते हुए जनता को गुमराह करने के आरोप लगाए और कहा कि वह पंजाब सरकार के 4 साल की उपलब्धियां गिनाएं, सिर्फ बोर्ड लगा देने से विकास नहीं दिखता है। प्रेस कांफ्रेंस में पूर्व मेयर वासुदेवा ने कहा कि शहर में कराए जा रहे कार्यों का विधायक झूठा क्रेडिट ले रहे हैं। वासुदेवा ने माना कि पीआईडीबी के काम से शुरू कराए हैं, पर जो काम एमएलए ने कराए नहींं, उनका झूठा क्रेडिट न लें।

उन्होंने कहा 2015 से 2020 तक भाजपा ने निगम में रहते एमसी फंड और पूर्व सांसद विनोद खन्ना के फंड से डीटीओ अॉफिस, लमीनी, आनंदपुर रड़ा और वेटरनरी अस्पताल में 4 ट्यूबवेल लगवाए गए हैं और अमरुत योजना के तहत सवा 7 करोड़ से 15 ट्यूबवेल में से 8 के काम शुरू करा दिए गए थे, जबकि सात ट्यूबवेल के टेंडर साल 2018-19 में लगाए गए। केंद्रीय स्कीम से ही नए वार्डों में सीवरेज-वाटर सप्लाई के लिए 4 हिस्सों में 87 करोड़ के टेंडर बांट कर काम कराए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले चार साल में टेंडर रोककर उन्हीं टेंडरों के काम अब शुरू करा इन कार्यों का झूठा क्रेडिट लेने की कोशिश की जा रही है। कांग्रेस अपनी योजना, पैसे और बजट बताए, कहां से ला रहे हैं। भाजपा ने अपने 5 साल में निगम को आत्म निर्भर बनाया है और सत्ता छोड़ते समय निगम के खाते में 32 करोड़ छोड़कर आए थे और 14वें वित्त कमिशन की 14 करोड़ की ग्रांट केंद्र से आनी थी। उन्होंने कहा कि बोर्ड लगा देने देने से विकास नहीं दिखता है। इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष विजय शर्मा, पूर्व मंत्री मास्टर मोहन लाल, नार्थ मंडल के अध्यक्ष शमशेर ठाकुर, एससी मोर्चा के प्रदेश सचिव रामपाल विक्की, मीडिया इंचार्ज प्रदीप रैणा, अरुण महाजन मौजूद थे।

एमएलए अमित विज ने कहा कि पॉलिटीकल इश्यू छोड़ भाजपा पंजाब के हित की बात करे।

भाजपा के आरोपों पर एमएलए अमित विज ने कहा कि पॉलिटीकल इश्यू छोड़ भाजपा पंजाब के हित की बात करे। अमरुत योजना में 50 फीसदी शेयर पंजाब का भी है। बाकी 50 फीसदी केंद्र से आया है, जो जीएसटी के तौर पर पहले ही केंद्र के खाते में गया है। उसमें पंजाब को जीडीपी के हिसाब से 2.4 फीसदी मिलना चाहिए, पर पूरा शेयर नहीं दिया जा रहा इसलिए पंजाब का हिस्सा लाने को भाजपाई केंद्र से आग्रह करें। शहर में हो रहे विकास पर राजनीति न की जाए। कहा-कोरोना काल में पंजाब को केंद्र से जो शेयर मिलना चाहिए, वो नहीं मिल रहा,उसके लिए भाजपा पार्टीबाजी से ऊपर उठ पंजाब के हितों की लड़ाई लड़े।

भाजपा के आरोपों पर एमएलए अमित विज ने कहा कि पॉलिटीकल इश्यू छोड़ भाजपा पंजाब के हित की बात करे। अमरुत योजना में 50 फीसदी शेयर पंजाब का भी है। बाकी 50 फीसदी केंद्र से आया है, जो जीएसटी के तौर पर पहले ही केंद्र के खाते में गया है। उसमें पंजाब को जीडीपी के हिसाब से 2.4 फीसदी मिलना चाहिए, पर पूरा शेयर नहीं दिया जा रहा इसलिए पंजाब का हिस्सा लाने को भाजपाई केंद्र से आग्रह करें। शहर में हो रहे विकास पर राजनीति न की जाए। कहा-कोरोना काल में पंजाब को केंद्र से जो शेयर मिलना चाहिए, वो नहीं मिल रहा,उसके लिए भाजपा पार्टीबाजी से ऊपर उठ पंजाब के हितों की लड़ाई लड़े।

By Desk

error: Content is protected !!