कांग्रेस में शीर्ष नेतृत्व के लिए पार्टी 2 धड़े में बंट गया है जिसमें एक धड़ा गांधी परिवार से बाहर को अध्यक्ष बनाने की बात कर रहा है तो दूसरे धड़े की मांग है कि अध्यक्ष गांधी परिवार के ही किसी सदस्य को होना चाहिए. लेकिन इस बीच खबर है कि सोनिया गांधी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष पद छोड़ने जा रही हैं. उन्होंने अपने सहयोगियों से कहा है कि बतौर अंतरिम अध्यक्ष उनका कार्यकाल पूरा हो गया है.

निवर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कांग्रेस (Congress) से नया प्रमुख चुनने की अपील की है. माना जा रहा है कि वे इस्तीफा (resign) देने वाली हैं. कहा गया है कि सोनिया गांधी ने साफ कर दिया है कि वे आगे कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष (Congress president) के पद पर नहीं रहना चाहती हैं. बता दें कि सोनिया गांधी को 2019 के आम चुनावों में हार के बाद तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के इस्तीफे के बाद कांग्रेस पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया था. हालांकि सोमवार को होने वाली कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में अंतरिम अध्यक्ष (Interim President) ही नियुक्त किये जाने की बात कही जा रही है क्योंकि सूत्रों के मुताबिक पूरी पार्टी के नये अध्यक्ष की नियुक्ति कांग्रेस के आंतरिक चुनावों के बाद ही की जा सकती है.

सोमवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक होने है, जिसमें राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की संभावना है. पिछले कुछ हफ्तों के दौरान कांग्रेस के कई नेता खुलकर यह मांग कर चुके हैं कि एक बार फिर राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपी जाए. हाल ही में कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि कांग्रेस के 100 फीसदी कार्यकर्ताओं की यह भावना है कि राहुल गांधी फिर से पार्टी का नेतृत्व करें. बैठक से पहले, पार्टी के भीतर अलग-अलग आवाज़ें उभर रही हैं. जिसमें एक वर्ग के सांसद और पूर्व मंत्री भी शामिल हैं. जबकि एक सामूहिक नेतृत्व की मांग भी की गई है. वहीं एक अन्य समूह ने राहुल गांधी की वापसी की मांग की है. पूर्व मंत्रियों सहित कुछ कांग्रेस नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को संगठनात्मक ढांचे और नेतृत्व में बदलाव के लिए भी लिखा है.

हाल ही में कांग्रेस नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि एनडीए के सफल होने का कारण “एक मजबूत, एकजुट विपक्ष की अनुपस्थिति” है, और इस महत्वपूर्ण मोड़ पर पार्टी का एक “हानिकारक साबित होगा.” उन्होंने आगे कहा कि गांधी परिवार “भूमिका के लिए फिट” है क्योंकि परिवार ने “ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद से देश की प्रगति में बहुत बड़ा योगदान दिया है.

By Desk

error: Content is protected !!