पठानकोट : शाहपुर कंडी क्षेत्र के गांव थरियाल में लूट की नीयत से आधी रात सो रहे परिवार पर काला कच्छा गिरोह ने हमला किया था। इस हमले में परिवार के मुखिया अशोक कुमार की मौत हो चुकी है जबकि चार सदस्य गंभीर रूप से घायल हैं। पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि यह वारदात काला कच्छा गैंग की है। हमला करने का तरीका, निर्मम व निर्दयी तरीके से वार कर लोगों को मार देना सब गिरोह की तरह है। 10 साल पहले भी गिरोह ने जब इस क्षेत्र में वारदातें की थीं तो यही तरीका अपनाया था। क्षेत्र में यह पहली वारदात है इसलिए पुलिस के आला अधिकारी सतर्क हो गए हैं। एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर की ओर से हिमाचल की सीमा से सटे जिलों खासकर पठानकोट, होशियारपुर, रूपनगर और गुरदासपुर व एसएएस नगर के एसएसपी को पत्र जारी कर अलर्ट किया है। पत्र में कहा गया है कि गांव थरियाल की वारदात काला कच्छा गिरोह की है। इस तरह के गिरोह पहले भी हिमाचल के सीमावर्ती क्षेत्रों से आकर वारदातें करते रहे हैं। इस वारदात से सचेत हो जाएं और अपने-अपने जिले में हिमाचल की सीमा पर नाकाबंदी और मोबाइल पेट्रोलिंग को पुख्ता कर लें। लंबे समय बाद काला कच्छा गिरोह की आहट से क्षेत्र में दहशत है। वारदात के बाद 72 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। आरोपितों का कोई पता नहीं है। हालांकि पुलिस वारदात के तरीके से गिरोह का पता लगाने का दावा कर रही है। हिमाचल के सीमावर्ती क्षेत्रों में भी पठानकोट पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी है। नाकों से गुजरने वाले प्रत्येक वाहन की गहनता से जांच के आदेश भी दिए गए हैं। शक है कि वारदात के बाद गिरोह के सदस्य पड़ोसी राज्य की सीमा में घुसकर बचने की कोशिश करेंगे। —

गांवों में होंगे ठीकरी पहरे :

वारदात के बाद पुलिस ने गांवों के सरपंचों को भी सतर्कता बरतने के लिए कहा है। उन्हें कहा गया है कि गांवों में ठीकरी पेहरा लगवाएं। इसकी रिपोर्ट थाने में दें कि किस-किस व्यक्ति की ड्यूटी ठीकरी पेहरे पर लगाई गई है। —

एसआइटी कर रही जांच : एसएसपी

By Desk

error: Content is protected !!